कथन

सपने और रस्ते , दोनों ही बड़े होने चाहिए

Advertisements

असली दौलत

दूसरों के दिल मे जो अच्छाई हे यही मेरे जीवन की कमाई हे क्यों भागू मैं पैसे के पीछे इससे कहाँ कब खुशी आई हे -अनिरुद्ध शर्मा