सुझाव चाहिए

जब तक सुझाव नहीं आयेंगे तब तक अपनी कमियों का कैसे पता चलेगा. तो में आग्रह करता हूँ आप सब से की नीचे पते में जा कर मेरी पुस्तक पढ़ें और मुझे सुझाव दें जिससे में बहुत जल्द आपके सामने अपनी दूसरी पुस्तक भी ला सकूँ. पुस्तक

एक मुलाजिम की किस्मत

मुलाजिम हूँ दूसरों की सुनना मेरा हक है इसी बात की तनख्वाह है, जिससे मेरा घर जगमग है बात बराबर है, किसी एक को चुन लो दफ्तर ना हो तो घर में सुन लो बेहतर है की दफ्तर में ही सुन लो न तो खाली जेब ही अपने सपने बुन लो बस ऐसे सुनने सुनाने … Continue reading एक मुलाजिम की किस्मत

कला का कदरदान चाहिए

ना तो उपहार चाहिये ना कोई अहसान चाहिये ना ही पैसा चाहिये ना कोई पहचान चाहिये शब्दों को पिरोकर माला बनाने वाला कवी हूँ मुझे बस कला का कदरदान चाहिए -अनिरुद्ध

पैसा पैसा

पैसे के लिए तो अमीरों को रोते देखा है गरीबों को रोते देखा है कर्म अच्छे हैं जिनके उनका बिना पैसे ही भला होते देखा है समझ नहीं आई तेरी खुदाई ऐ खुदा गरीबो को हँसते ओर आमिरो को रोते देखा है भाग रहे हैं जो पैसे की दोड़ में अपनों की महफ़िल में भी … Continue reading पैसा पैसा

जिन्दा लाश

हमारे समाज में कुछ भी होता रहे , हम तो बस अपनी राह चलेंगे. हमें किसी के काम से कोई मतलब नहीं. कुछ ऐसा ही हाल हो गया हैं आजकल हमारा. हम सब अपनी अपनी जिंदगी में इतना मशरूख हैं की हमें समाज की कोई चिंता नहीं. अभी हाल ही में एक वाख्या सामने आया … Continue reading जिन्दा लाश